खतरनाक हो सकती है विटामिन बी 12 की कमी। Vitamin B12 deficiency can be dangerous in hindi.

खतरनाक हो सकती है विटामिन बी 12 की कमी 

खतरनाक हो सकती है विटामिन बी 12 की कमी
कल्पना की उम्र 39 वर्ष है वह दो बच्चों की माँ  है। उसे खाने-पिने का काफी शोक है पिछले कुछ महीनों से उसे  एक अजीब समस्या का सामना करना पड़ रहा है। वह ज्यादा देर तक खड़ी नहीं रह पाती और थकान मह्सूस करने लगती है। वह लगातार अवसाद और निराशा महसूस करती हैं। उसकी रूचि किसी भी चीज में नहीं रह गई है। वह अपनी नार्मल लाइफ में नहीं लौट पा रही है। कल्पना के पति ने फिजिशियन से संपर्क किया। डॉ. ने कुछ जांच कराने के लिए बोला, उसमें विटामिन बी-12 का स्तर पता करने के लिए भी एक टेस्ट था। रिपोर्ट आई तो पता चला कि कल्पना की बॉडी में विटामिन बी-12 की कमी है। डॉक्टर ने उसे एक ओरल सप्लीमेंट का एक कोर्स बताया। इसके बाद कल्पना की स्थिति में धीरे-धीरे सुधार आने लगा और पहले की वह अब सामान्य जीवन जीने लगी है।  

 #  विटामिन बी 12 की कमी के लक्षण :-

  • हार्ट बीट तेज़ हो जाना। 
  • कुछ भी लिखा-पढ़ा याद न रहना। 
  • आलसपन महसूस होना। 
  • सिरदर्द होना। 
  • कमज़ोरी महसूस होना। 
  • चिड़चिड़ापन महसूस होना। 
  • अनियमित मासिक ( पीरियड्स )
  • आंखों से कम दिखाई देना या दर्द होना। 
  • हाथों-पैरों या बदन में दर्द होना। 
  • मुंह में छाले होना। 
  • खून में कमी होना। 
  • काम में मन न लगना। 
  • काम करते-करते जल्दी तक जाना। 

 #  कई नेगेटिव इफेक्ट होते है :-

यह सिर्फ कल्पना की ही समस्या नहीं है इस समस्या से बहुत से लोग जूझ रहे है लेकिन विटामिन बी-12 की कमी को एक साधारण समस्या माना जाता है, परन्तु इससे कई गंभीर बिमारियों का सामना करना पड़ सकता है। फोर्टिस अस्पताल, बंगलुरु की डायरेक्टर-इंटरनल मेडिसिन डॉ. शीला चक्रवर्ती कहती है। कि विटामिन बी-12 कमी से कई बीमारियां हो सकती है। विटामिन बी-12 की कमी से एनीमिया हो सकता है और स्पाइनल की भी समस्या आ सकती है। स्थिति ज्यादा गंभीर हो तो पैरालिसिस की स्थिति भी बन सकती है। अगर शरीर में विटामिन बी-12 की कमी को समय रहते पता लगा लिया जाए तो ठीक है, वरना मस्तिष्क पर भी नकारात्मक असर पड़ सकता है।  

 #  इन्हें है विटामिन बी-12  की कमी से बचना ज्यादा जरूरी :-

  • जो दूध और दूध से बने पदार्थों का सेवन नहीं करते। 
  • जो जरूरत से ज्यादा एल्कोहल का सेवन करते है। 
  • एनीमिया या पेट की समस्या से पीड़ित व्यक्ति को हो सकता है ज्यादा खतरा। 

 #  विटामिन बी-12 के लिए प्रमुख स्त्रोत :-

  • दूध-डेयरी उत्पाद। 
  • मीट 
  • मछली
  • अंडे आदि 
  • शाकाहारी लोग विटामिन बी-12 की कमी को दूर करने के लिए सप्लीमेंट्स के बारे में डॉक्टर से परामर्श लें सकतें है। 

 #  विटामिन बी-12 की कमी के शुरुआती लक्षण :-

खतरनाक हो सकती है विटामिन बी 12 की कमी
मद्रास मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर ऑफ़ मेडिसिन डॉ. पी. विजयराघवन कहते है कि शरीर में थकान, अवसाद और याद्दाश्त में कमी जैसे लक्षण नजर आते है। ये खतरे की घंटी साबित होते है। मणिपाल अस्पताल, डॉ. मनोहर KN. कहते है कि नर्वस सिस्टम भी शरीर में विटामिन बी-12 की कमी के संकेत देता है। इससे व्यक्ति बीमार रहने लगता है, जल्दी थक जाता है, ख़ुशी के मौकों पर उदास रहता है, मुंह का अल्सर हो जाता है। कई बार लगता है कि पैरों में जैसे कोई सुई चुभा रहा हो। तनाव, धुंधलापन दिखना आदि समस्याएं हो सकती है। 

 #  रखें ख़ास सावधानी :-

पेड़-पौधे विटामिन बी-12 का निर्माण नहीं करते, पर फिर भी आप दूध, दही, पनीर, चीज, मक्खन, सोया मिल्क या टोफू का नियमित रूप से सेवन करें। सोयाबीन, मूंगफली, दालें और अंकुरित अनाज का भी सेवन करना चाहिए। कई बार यह भी देखा गया है कि अवशोषण भी एक समस्या बन जाता है। शरीर में ज्यादा खून की कमी होने पर विटामिन बी-12 का अवशोषण नहीं हो पाता है। लंबे समय तक डायबिटीज के लिए मेटफोर्मिन और अल्सर के लिए ओमेप्रेजोल से भी विटामिन बी 12 की कमी हो सकती है। विटामिन बी-12 की कमी से कई समस्याएं होती है। विटामिन बी-12 की कमी होने पर दूध और दूध से बने पदार्थों का सेवन शुरू कर देना चाहिए। विटामिन बी-12 की कमी से पीड़ित व्यक्ति को अल्कोहल से विशेष रूप से दूर रहना चाहिए।

 #  विटामिन बी 12 के कई फायदे :-

विटामिन बी-12 हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक है। यह हमारी जीन, DNA को बनाता है। यह लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करता है। विटामिन बी-12 शरीर के हर हिस्से के नर्वस को प्रोटीन देने का काम करता है। इसलिए इसकी कमी से पुरुषों में इनफर्टिलिटी ( Infertility ) या सेक्सुअल डिस्फंक्शन की भी समस्या हो सकती है। विटामिन बी-12 एक ऐसा तत्व है, जो मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के सही से काम करने में मदद करता है। इसकी कमी के लिए अनुवांशिक कारण भी ज़िम्मेदार हो सकता है। शाकाहारियों में इसकी कमी आम बात है यह एनिमल प्रोडक्ट्स में ज्यादा पाया जाता है। जमीन के भीतर उगने वाली सब्ज़ियां जैसे आलू, गाजर, मूली, चुकंदर आदि भी विटामिन बी-12 के स्त्रोत है।

 #  Conclusion :-

शरीर में विटामिन बी-12 की कमी से बहुत से मानसिक और शारीरिक रोग हो सकते है इसलिए समय रहते इसका पता लगाएं और किसी अच्छे चिकित्सक से परामर्श ले। अन्यथा इसका आपके मस्तिष्क पर भी गहरा असर पड़ सकता है। इसके लिए दूध से बने उत्पादों का सेवन कीजिए, मीट, मछली, अंडे का सेवन कीजिए बशर्ते अगर आप मांसाहारी है तो। और अगर आप शाकाहारी है तो दुग्ध उत्पादों का सेवन कीजिए और इसके साथ-साथ डॉक्टर से संपर्क करें।

 #  Read More Article :-




 #  Extra Tips :-


रोगों पर काबू पाने के कुछ ख़ास टिप्स 

खतरनाक हो सकती है विटामिन बी 12 की कमी
स्वस्थ जीवन शैली, नियमित व्यायाम और किसी प्रकार के नशे से दुरी बनाकर निरोगी जीवन बिताया जा सकता है। क्यों ना हम कुछ ऐसी ही जीवनशैली को अपनाएं :-


  • तंबाकू, सिगरेट, गुटखा, अनेक रोगों के कारक है। इनका सेवन करने से हृदय रोगों, कुछ अंगों के कैंसर, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, अस्थि विरलता इत्यादि का खतरा ज्यादा हो जाता है। 
  • नशीले तत्व :- गांजा, चरस, हशीश, हेरोइन, कोकेन इत्यादि के सेवन का प्रचलन तेजी से बढ़ रहा है। इनके कारण अनेक शारीरिक, मानसिक, व्यावहारिक, सामाजिक, आर्थिक समस्याएं हो सकती है। इनका सेवन कदापि ( कभी ) न करें। 
  • संतुलित भोजन नियमित रूप से आवश्यक मात्रा में सेवन करें जिसमें पर्याप्त मात्रा में कैलोरी और अन्य सभी पोषक तत्व - प्रोटीन, विटामिन, खनिज लवण, एंटी ऑक्सीडेंट, जल इत्यादि मौजूद हो। वसा, नमक, सरल शर्करा का सेवन सिमित मात्रा में करें। भोजन में कैल्शियम की मात्रा पर्याप्त होनी चाहिए। 
  • हृदय के रोग मौत का नंबर एक कारण है। इनसे बचाव के लिए 40 वर्ष से ज्यादा आयु के पुरुष और 50 वर्ष से ज्यादा आयु की महिलाएं रोजाना एस्प्रिन का सेवन कर सकते है। 
  • संतुलित जीवन व्यतीत करें। एक ही साथी से यौन संबंध स्थापित करें। जिससे कि आपका यौन जनित संक्रमण और एड्स इत्यादि से बचाव हो। 
  • देश में भोजन, जल जनित रोगों का प्रकोप होता रहता है। भोजन, जल की स्वच्छ्ता, शुद्धता का ख़ास ध्यान रखें। स्वच्छ्ता के नियमों का सख्ताई से पालन करें।   
  • विटामिन-डी की आपूर्ति के लिए 10 से 15 मिनट प्रतिदिन धूप में अवश्य टहलें। 
  • मुंह की सफाई का ध्यान रखें। सुबह और भोजन के बाद रात को ब्रश हमेशा करें। 

 #  Final Words :-

हम आशा करते है कि आपको ये
( खतरनाक हो सकती है विटामिन बी 12 की कमी  )
से संबंधित आर्टिकल अच्छा लगा होगा।
अपने विचार कमेंट बॉक्स में अवश्य शेयर करें।
हम मिलेंगें आपसे एक बार फिर नए और फ्रेश आर्टिकल के साथ
तब तक के लिए खुश रहें और स्वस्थ रहें।
धन्यवाद। 

Post a Comment

0 Comments

All Rights Reserved - Hashwh.com - 2018