Folic Acid-Importance of Folic Acid for Women in hindi. महिलाओं के लिए फोलिक एसिड का महत्व।

Folic acid को फोलेट(Vitamin-B9) भी कहते है। यह लाल रक्त कणिकाओं के निर्माण और स्वस्थ कोशिकाओं के विकास और उनके सही ढंग से काम करने के लिए आवश्यक है। महिलाओं में मासिक धर्म(Periods) गर्भावस्था और प्रसव के समय Bleeding के कारण एनीमिया होने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए महिलाओं के लिए बेहद आवश्यक है कि वे अपनी Diet Chart में फोलेट से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करें। फोलेट गर्भस्थ शिशु के विकास और स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद है।

Table of Content :-



 महिलाओं के लिए फोलिक एसिड का महत्व।

Importance of Folic Acid for Women
फोलेट और फोलिक एसिड (Folic Acid) पानी घुलनशील विटामिन बी के रूप होते हैं। फोलेट प्राकृतिक रूप से भोजन में होता है, और फोलिक एसिड इस विटामिन का सिंथेटिक रूप है। 1 99 8 से, फोलिक एसिड को संघीय कानून द्वारा आवश्यक अनाज, आटा, ब्रेड, पास्ता, बेकरी Item, कुकीज़ और क्रैकर्स में जोड़ा गया है। खाद्य पदार्थ जो फोलेट में स्वाभाविक रूप से उच्च मात्रा में पाए जाते हैं उनमें पत्तेदार सब्जियां (जैसे पालक, ब्रोकली, और सलाद),  ओकरा, शतावरी, फल (जैसे केला, खरबूजे, और नींबू) सेम, खमीर, मशरूम, मांस (जैसे गोमांस यकृत और गुर्दे ), नारंगी का रस, और टमाटर का Juice आदि।

 #  Folic Acid क्या है ?


Folate एक विटामिन है जो विटामिन बी Complex का एक भाग है इसके मनुष्य द्वारा बनाए गए रूप को फॉलिक एसिड कहा जाता है। Folate लाल रक्त कणिकाओं के निर्माण में तो अपनी बेहतरीन भूमिका निभाता ही है, गर्भावस्था की शुरुआत में गर्भवती महिला के शरीर में इसका उचित स्तर होना बेहद जरूरी है, ताकि पैदा होने वाले बच्चों में होने वाली मस्तिष्क और Spine के जन्मजात दोष (Defect) की संभावना को कम किया सके। बहुत सी महिलाओं के लिए भोजन से Folate की पर्याप्त मात्रा हासिल कर पाना सम्भव नहीं हो पाता इसलिए उन्हें किशोर(Adolescent) उम्र से फोलिक Acid लेने की सलाह दी जाती है। 

फोलिक एसिड फोलेट (फोलेट की कमी) के निम्न रक्त स्तर को रोकने और इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है, साथ ही साथ "जटिल थके हुए" (Anemia) और पोषक तत्वों को ठीक से अवशोषित करने के लिए आंत्र की अक्षमता सहित इसकी जटिलताओं का इलाज किया जाता है। फोलिक एसिड का उपयोग आमतौर पर फोलेट (folate) की कमी से जुड़ी अन्य स्थितियों के लिए भी किया जाता है, जिसमें अल्सरेटिव (ulcerative), कोलाइटिस(colitis), यकृत रोग (liver disease), शराब, और गुर्दे डायलिसिस (kidney dialysis) शामिल हैं।

कुछ लोग कोलन( Colon ) कैंसर या गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर का प्रभाव कम या उसे रोकने के लिए फोलिक एसिड का उपयोग करते हैं। इसका उपयोग हार्ट की बीमारी और स्ट्रोक को रोकने के साथ-साथ होमोसाइस्टिन (Homocysteine) नामक रसायन के रक्त स्तर को कम करने के लिए भी किया जाता है। होमोसाइस्टिन का अधिक स्तर दिल की बीमारी का खतरा पैदा करता है।

फोलिक एसिड का उपयोग मेमोरी लोस, अल्जाइमर रोग, उम्र के साथ-साथ सुनने में कठिनाई आना, आंखों की बीमारी उम्र से संबंधित मैकुलर अपघटन (macular degeneration ) को रोकने, उम्र बढ़ने के संकेतों को कम करने, कमजोर हड्डियों (Osteoporosis), बैचैन पैर (restless leg syndrome) और नींद के लिए किया जाता है। अवसाद, तंत्रिका दर्द, मांसपेशी दर्द, AIDS, एक त्वचा रोग जिसे विटिलिगो (Vitiligo) कहा जाता है, और एक विरासत(inherited) वाली बीमारी जिसे फ्रैगिल-एक्स सिंड्रोम कहा जाता है। यह दवाओं lometrexol और मेथोट्रैक्सेट दवाओं के साथ उपचार के हानिकारक साइड इफेक्ट्स को कम करने के लिए भी प्रयोग किया जाता है।

 #  Folate (Folic Acid) के प्राकृतिक स्त्रोत :-



  • हरी पत्तेदार सब्ज़ियां जैसे :- मेथी, पालक, बीन्स। 
  • फल :-  खरबूजा, संतरा, Banana, Lemon, स्ट्रॉबेरी और अंगूर फोलेट के बहुत  स्त्रोत है। 
  • Bread, साबुत अनाज, आटा, Rice, पास्ता और Eggs में भी Folate काफी मात्रा में पाया जाता है। 
  • इनके अलावा सभी प्रकार के अनाज भी फोलेट के काफी बेहतरीन सोर्स है। खासतौर पर महिलाओं को नेचुरल सोर्स से Folate अधिक से अधिक प्राप्त करने का प्रयास करना चाहिए। ताकि Supplements लेने की आवश्यकता कम से कम पड़े।  

 #  फोलिक एसिड इनमें काफी प्रभावी है :-


  • गुर्दे की बीमारी :- गंभीर Kidney  रोग वाले 85% लोगों में होमोसाइस्टीन का उच्च स्तर होता है। Homocysteine ​​का उच्च स्तर हृदय रोग और स्ट्रोक से जुड़ा हुआ है। फोलिक एसिड लेने से गंभीर गुर्दे की बीमारी वाले लोगों में होमोसाइस्टीन का स्तर कम हो जाता है। हालांकि, फोलिक एसिड Supplements हृदय रोग से संबंधित घटनाओं के जोखिम को कम करने के लिए प्रकट नहीं होता है।
  • रक्त में :- हाइपोसाइटोस्टीनिया (Homocysteine) (हाइपरहोमोसाइस्टीनिया) की उच्च मात्रा में। Homocysteine ​​का अधिक स्तर हृदय रोग और स्ट्रोक जैसे खतरों को बढ़ाता है। फोलिक एसिड का सेवन करने से जिन लोगों में होमोसाइस्टीन का स्तर अधिक होता है उन लोगों में फोलिक एसिड के सेवन से 20% से 30% तक होमोसाइस्टीन के स्तर को कम किया जा सकता है। यह उन लोगों को Highly Recommend किया जाता है जिनमें होमोसाइस्टीन का स्तर 11 माइक्रोमोल्स से अधिक हो।  
  • मेथोट्रेक्सेट नामक दवा के हानिकारक प्रभाव को कम करने के लिए फोलिक एसिड का उपयोग किया जाता है। फोलिक एसिड लेने से मतली और उल्टी आना भी कम हो जाती है। 
  • जन्म दोष (तंत्रिका ट्यूब दोष)। गर्भावस्था के दौरान फोलिक एसिड तंत्रिका ट्यूब जन्म दोषों का खतरा कम कर देता है। Highly Recommend किया जाता है कि गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था से पहले और गर्भावस्था के दौरान 1 महीने से पहले अपने आहार या Supplements से 600-800 माइक्रोग्राम फोलिक एसिड प्रतिदिन लेना चाहिए। Past में तंत्रिका ट्यूब जन्म(neural tube birth) दोषों वाली गर्भवती महिलाओं को प्रति दिन 4000 माइक्रोग्राम फोलिक एसिड प्राप्त करने की सलाह दी जाती है।

  • इनमें भी फायदा हो सकता है :-


  • उम्र के साथ-साथ आँखों से देखने(नजर) में कठिनाई (आयु से संबंधित मैकुलर अपघटन) होना। शोध से पता चलता है कि विटामिन बी 6 और विटामिन बी 12 सहित अन्य विटामिनों के साथ फोलिक एसिड लेने से आयु से संबंधित दृष्टि(नजर) हानि विकसित करने का खतरा कम हो जाता है।
  • Depression :- एक अध्ययन से पता चला है कि एंटीड्रिप्रेसेंट्स( antidepressants ) के साथ फोलिक एसिड लेने से अवसाद( Depression ) वाले लोगों में लक्षणों में सुधार होता है।
  • High Blood Pressure :- अध्ययनों से पता चलता है कि कम से कम 6 सप्ताह के लिए फोलिक एसिड प्रतिदिन लेना उच्च रक्तचाप वाले लोगों में High blood pressure को नियंत्रित करता है। लेकिन ब्लड प्रेशर Medicine के साथ फोलिक एसिड लेना केवल रक्तचाप की दवा लेने से ज्यादा रक्तचाप नियंत्रित नहीं होता है। 
  • गर्भावस्था के दौरान Gums रोग। मसूड़ों के लिए फोलिक एसिड लगाने से गर्भावस्था के दौरान मसूड़ों में Gums रोग में सुधार होता है।
  • एक Skin रोग विकार विटिलिगो कहा जाता है। मुंह से फोलिक एसिड लेना विटिलिगो के लक्षणों में सुधार किया जा सकता है।

 #  गर्भवती महिलाएं फोलिक एसिड लेना कब शुरू करें।


गर्भस्थ(Gestation period) शिशु में जन्मजात दोष होने की आशंका गर्भावस्थ के 3 से 4 सप्ताह में होती है। इसलिए यह आवश्यक है कि गर्भवती महिला के शरीर में उन शुरूआती चरणों में जब बच्चे का मस्तिष्क और Spinal Card विकसित हो रही हों तब बॉडी में फोलेट की उचित मात्रा होनी चाहिए। एक स्टडी में यह बात सामने आई है कि जो महिलाएं गर्भवती होने के एक साल पहले फोलिक एसिड का सेवन करना शुरू कर देती है। उनमें समय से पहले प्रसव( Childbirth ) होने की आशंका 50 फीसदी कम हो जाती है।

 #  गर्भवती महिला और Folic Acid का सेवन :-


एक Young महिला को हर-रोज लगभग 400 माइक्रोग्राम (MCG) folate का सेवन करना चाहिए। और जो महिलाएं गर्भाधारण करने की योजना बना रही है या ग़र्भवती हैं तो उन्हें करीब-करीब 700 MCG फोलेट का सेवन करना चाहिए। ग़र्भवती महिला फोलिक Acid की प्रतिदिन की कमी को पूरा करने के लिए Supplements का भी उपयोग कर सकती है। ताकि बच्चा स्वस्थ रहे और उसमें होने वाले जन्मजात दोष, स्पाइनल बाइफिडा और मस्तिष्क के असामान्य विकास पर रोक लगाई जा सके। यह गर्भवस्था के दौरान Anemia होने की आशंका को भी कम करता है। जिसका सामना सामान्य तौर पर 40 से 50 फीसदी महिलाओं को गर्भवस्था के दौरान करना पड़ता है। Pregnant महिलाओं में इसकी कमी से बच्चों में हृदय रोग, मधुमेह ( Diabetes ), जन्म के समय बच्चों का वजन भी कम हो सकता है, और भी दूसरी बहुत सी बिमारियों की आशंका बनी रहती है।

 #  Folic Acid कितना जरूरी है।


फोलिक एसिड क्यों और कितना जरूरी है :-
  • Folic Acid नई कोशिकाओं के निर्माण और उन्हें बनाए रखने में सहायता करता है। विशेषरूप से ब्लड कोशिकाओं के निर्माण के लिए शरीर में इसका पर्याप्त स्तर होना बहुत जरूरी है। 
  • Folic Acid की कमी Anemia का कारण बनती है इसलिए Teenager लड़कियों को सप्ताह में एक बार फोलिक एसिड की गोली ( Pill ) का सेवन करने के लिए Recommend किया जाता है। 
  • यह Cancer के कारण कोशिकाओं के DNA में होने वाले परिवर्तनों को भी रोकने का प्रयास करता है। 
  • Folic Acid Depression से लड़ने में भी सहायता करता है। 
  • America में हुए एक अध्ययन के अनुसार Folic acid से उच्च रक्त दाब होने का खतरा बहुत कम हो जाता है। 
  • यह बात सुनिश्चित हो चुकी है कि Folic Acid के Supplements डिमेंशिया को रोकने में काफी अहम भूमिका निभाते है।    

  • Folic Acid के सेवन के दौरान चिकित्सक से सलाह लें।

  • Folic Acid के सप्लीमेंट्स सस्ते, आसानी से उपलब्ध और सुरक्षित माने जाते है इनका सेवन बिना Doctor की सलाह के भी किया जा सकता है।
  • लेकिन अगर आपको कोई स्वास्थ्य से संबंधित समस्या है तो, आपके लिए बेहतर यही होगा कि आप Supplements का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह मशविरा करें।  
  • Kidney disease :- अगर आपको किडनी डिजीज है तो चिकित्सक आपको Dose कम करने की सलाह दे सकते है। या कोई टेस्ट के लिए आपको कह सकते है ताकि आप सुरक्षित रूप से Folic acid का सेवन कर सकें। 
  • अगर आपको Folic Acid से एलर्जी है तो आप इसका सेवन बिलकुल न करें। 


 #  Related Articles :-


 #  Conclusion :-

अब तो आपको पता चल ही चुका होगा कि महिलाओं के लिए Folic Acid कितना जरूरी है। इसलिए Folic Acid का सेवन महिलाओं को जरूर करना चाहिए। इसके सेवन से बहुत सी बीमारियों से छुटकारा मिलता है और यह हमें काफी बीमारियों से दूर भी रखता है। मगर एक दरख्वास्त करना चाहेंगें कि आप फोलिक एसिड का सेवन आप अपने डॉक्टर से सलाह करने के बाद ही करें। क्योंकि आपका चिकित्सक आपकी बॉडी को हमसे काफी बेहतर तरीके से जानता है। अंत: चिकित्सक से सलाह मशविरा जरूर करें।

 #  Last Words :- 

तो फ्रेंड्स ये था आज का आर्टिकल
Based on ( Folic Acid :- Importance of Folic Acid for Women in hindi )
अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें
ताकि उनकी भी हेल्प हो सके।

और अगर आप इस Site पर नए है तो प्लीज Subscribe कर लीजिए
ताकि आपको नए-नए Articles की जानकारी सबसे पहले मिलती रहे।

हम मिलेंगें आपसे एक और फ्रेश Article के साथ
तब तक के लिए खुश रहिए, स्वस्थ रहिए।
धन्यवाद। 

Post a Comment

0 Comments

All Rights Reserved - Hashwh.com - 2018