Achhi Zindagi Jeene ke लिए 10 बेहतरीन Rules in Hindi.

आज हम जानने वाले है "Achhi Zindagi Jeene ke 10 Behtreen Rules ke baare mein" एक अच्छी ज़िन्दगी जीने से पहले, अच्छी ज़िन्दगी के मायनों को समझना बेहद जरूरी है। हालांकि, कुछ नियमों का पालन करके ज़िन्दगी को ओर भी बेहतर तरीके से जिया जा सकता है। पर ये भी जान लें कि ये भी सम्भव नहीं कि हर कदम पर आपको सफलता ही हाथ लगे, या फिर हर कदम पर आपको ख़ुशी ही मिले।
Achhi zindagi jeene ke 10 behtreen Rules.
सुख और दुःख दोनों एक सिक्के के दो पहलु की तरह है। दोनों का हमारे जीवन में होना बेहद जरूरी है। इन दोनों को साथ में लेकर आपको चलना होगा। इन दोनों को समझना होगा। इन्हे समझकर एक बेहतर और खुशहाल ज़िन्दगी आराम से जी जा सकती है। और साथ में आपको सकारात्मक (Positive) सोच रखनी होती है मुश्किल परिस्थितियों में भी ज़िन्दगी में संतुलन बनाए रखना बहुत ही जरूरी होता है। ताकि आप सफलता की ओर बढ़ सको, और ज़िन्दगी को ओर भी बेहतर और उम्मदा तरीके से जी सको। तो चलिए जानते है "Achhi Zindagi Jeene ke लिए 10 बेहतरीन Rules." कौन-कौन से है   


⇨ आशावदी बनें 

आशावदी होने का ये मतलब मत निकालना के Hope लगाए बैठना है आशावदी होने का मतलब किसी भी Situation में आपको अच्छा Result देने से होता है। आपने सुना ही होगा महान वैज्ञानिक Albert Eisenstein ने कहा था कि जिंदगी जीने के सिर्फ दो ही तरीके हो सकते है :-
  1. पहला ↪ या तो आप ये सोच लें कि कुछ भी चमत्कार (Miracle) नहीं है। और उस चीज के पीछे पड़ जाओ कि ये कैसे हुआ, ये कैसे हो सकता है या फिर ये कैसे हो गया।
  2. दूसरा ↪ मान लो कि सब कुछ चमत्कार (Miracle) है और उसे देखते रहो और बस महसूस करते रहो कि बस जो भी हो रहा है अच्छा हो रहा है। 

⇨ खुद को पूर्ण बनाएं 

एक बात हमेशा याद रखें कि अगर आपके खुद के पास ही कुछ नहीं है तो आप दूसरों को भला क्या दे सकते है। दूसरों के बारे में कुछ भी बुरा भला बोलने से पहले यानी कि किसी ओर के बारे में बोलने से पहले या फिर सोच बनाने से पहले खुद को काबिल बनाइए। खुद को उसके लेवल पर लाने की कोशिश कीजिए। और ये भी एक सच है कि आप दूसरों को तब तक रौशनी नहीं दे सकते जब तक कि आपके खुद के पास रौशनी नहीं है इसीलिए सबसे पहले अपने आपको काबिल बनाओ। अपने आपको इतना काबिल बनाएं कि लोग आपको कुछ भी कहने से पहले हजार बार सोचें।  

⇨ दिन की शुरुआत अच्छे विचारो के साथ करें। 

रोज सुबह उठकर आप कैसा फील करते है या खुद को क्या कहते है जो भी आप सुबह सोचते है उसका आपके पुरे दिन के मिज़ाज़ पे काफी गहरा असर पड़ता है। आपका वो पहला विचार काफी बड़ा असर छोड़के जाता है। तो क्यों ना कुछ ऐसा किया जाए कि सुबह उठते ही आप कुछ अच्छी चीजें पढ़ो या फिर कुछ अच्छे Videos देखो या फिर कुछ ऐसा काम करो, जिससे आपका पूरा दिन अच्छा चला जाए।

यहाँ पर आपको एक बेस्ट प्रैक्टिकल Tip बताता हूँ जो मैं खुद करता हूँ, "सुबह उठते ही एक ऐसी लाइन को पढ़ लो" जो आपको पूरा एनर्जेटिक कर दे। पांच मिनट तक उसी लाइन को फील करने की कोशिश करो की उस एक लाइन में से आप खुद क्या सीखते हो और उसे महसूस करो। और वो जो आपको एनर्जी देगा वो आपके पुरे दिन को Perfect बना देगा।

⇨ अपनी गलतियों को स्वीकारें    

अपनी गलतियों से सीख लें और उन्हें स्वीकार करें। हम इंसान है और गलतियां इंसान से ही होती। लेकिन इसका मतलब ये नहीं की हम गलतियों को करते ही जाएं। इसका मतलब ये है कि उस गलती से सीख कर हम वो गलती दोबारा ना करें। हमें दूसरों की गलतियों से भी सीखना चाहिए, कि जो गलतियां दूसरों ने की वो हम अपने जीवन में न दोहराएं। अपनी गलती को स्वीकार और अगली बार के लिए इससे सीख लेना बेहद ही जरुरी है। इसके लिए खुद को दोषी नहीं ठहराना है।

आपको ये सोचना है कि इस गलती को मैं सुधार कर ऐसी ही गलती दोबारा नहीं करूंगा। और इससे कुछ सीख कर मैं ओर बेहतर कुछ करूंगा। एक अच्छी शुरुआत करूंगा। वैसे गलती सफलता की ही एक सीढ़ी होती है जिसे पार किए बिना आप सफलता तक नहीं पहुंच सकते। इसीलिए अपनी गलतियों को स्वीकार करें। उन्हें Accept करें और उनसे सीख कर अपनी जिंदगी को ओर भी बेहतर बनाइए।

⇨ जोखिम से न डरें।  

देखिए Chance तो सब को लेना पड़ता है जोखिम अगर सोच समझ के उठाया जाए, तो वो जोखिम नहीं रहता, वो एक निर्णय बन जाता है, यानी की वो हमारा Decision बन जाता है। इसीलिए किसी भी Problem से मुंह मत फेरिए। सोचिए आपकी ज़िन्दगी में कुछ भी Excited नहीं है बस यूं ही एक आम इंसान की तरह अपनी ज़िन्दगी जी रहे है। क्योंकि आपने अपनी ज़िन्दगी को डर के साए (Shadow) में बनाए रखा है।

आपको अंदर से डर लगा रहता है कि कहीं में गलत ना कर बैठूं। इस डर के साए (Shadow) से ही आगे निकलना है याद कीजिए वो आखिरी समय जब आपने कोई जोखिम भरा काम किया होगा। कुछ ऐसा करने की कोशिश की होगी जो सच में आपके अंदर आग लगा दे। कुछ ऐसा बड़ा करने की कब आपने कोशिश की थी वो सोचिए, आपने बहुत सारे ऐसे अवसरों को खो दिया होगा। जहाँ पर आप Success हो सकते थे।  

⇨ अवसर का महत्व समझें  

अवसरवादी न बनें, बल्कि अवसर का महत्व समझें। अगर आप सोचते है कि मैं सफल कैसे हो सकता हूँ ?, ना कोई मेरा नसीब है, ना कोई मेरे पास पैसे है, ना ही किसी ने मेरा साथ दिया, तो आप खुद को धोखा दे रहें है। ज़िन्दगी में सभी को सफलता के अवसर मिलते है आपको भी कभी ना कभी एक मौका तो मिला ही होगा, आपको कुछ कर दिखाने का मौका मिला ही होगा।

बस किसी को कम तो किसी को ज्यादा मिलता है। तो इन अवसरों को पहचानना उन पर ध्यान देना, यही तो सफलता का पहला कदम है। और इसे पाने के लिए आपके अंदर आत्मविश्वास होना बेहद जरूरी है कि आपको Confidence होना चाहिए कि आप जो भी करने वाले है वो Best होगा और जो भी आप करेंगें उसमें अपना Best देंगें। इसीलिए आपको समझना होगा कि कौनसी जगह या अवसर पर आपको अपना 100% देना है। अवसर के महत्व को समझना होगा।

⇨ सही बनें, Perfect नहीं       

आप सोच रहे होंगे कि मैंने पहले ही बोला है कि Perfect बनिए, अपने आपको Perfect बनाइए। लेकिन ये थोड़ा अलग है Mostly लोग गलती कहाँ पर करते है कि अपने आपको Perfect बनाने की भागदौड़ में लगे रहते है कि नही....मुझे ये Perfect कर लेना है मुझे वो Perfect कर लेना है।

 और भागदौड़ में आधी ज़िन्दगी को बर्बाद कर देते है। सही बनना सबसे जरूरी है, चीजों को सीखना सबसे जरूरी है, अपने हुनर में इजाफा करना सबसे जरूरी है आप जो भी कर सकते है उसे Repeat कीजिए, Every Day, Every Minute, Every Second उसे Repeat...Repeat...Repeat करते जाइए।

तब जाकर आप और बेहतर बनेगें उसको सही कर पाएंगें और अपने आप Perfect बन जाएंगें। और एक बात तो आप जानते ही होंगे कि कोई भी Perfect नहीं होता। हर चीज, हर काम में सुधार की गुंजाइश हमेशा बनी रहती है, कहीं ना कहीं थोड़ा बहुत 19.... 21 का फर्क हो ही जाता है। इसलिए आप Perfect बनने की कोशिश मत कीजिए, आप सही बनने की कोशिश कीजिए।

इसीलिए एक बात को हमेशा याद रखें, अच्छा करने की कोशिश कीजिए पीछे मुड़कर देखें और कहें कि मैं और भी बेहतर कर सकता हूँ, मैं इससे भी बेहतर कर सकता हूँ, जो मैंने पहले किया था और जो अभी करूंगा उससे भी बेहतर में Next Time कर सकता हूँ। और अपनी ज़िन्दगी में Perfect बनने से पहले भी, मैं सही बनने की कोशिश करूंगा। और जो भी करूंगा भले ही कम करूं, लेकिन सही करूंगा।

 खुद को प्रेरित करते रहें 

नकारात्मक सोच और विचारों से बचने के लिए सबसे जरूरी है कि आप खुद को Motivate करते रहें। खुद को Inspire करते रहें, Confidence बनाए रखने के लिए सबसे जरूरी है कि आप खुद को सकारात्मक यानी कि Positive और ऊर्जावान बनाए रखें। और खुद के अंदर एक एनर्जी को फील करते रहो। और हम तो आपको यही कहना चाहेंगे कि उन सभी चीजों की मदद लें जो आपको प्रेरित करती है, आगे बढ़ने के लिए मोटीवेट करती है।
जैसे कि महापुरुषों के कहे गए विचार या फिर कोई Motivational book या फिर यूट्यूब पर मोटिवेशनल Channel को Subscribe "Sandeep Maheshwari" करके रखें या फिर मोटिवेशनल Videos को Download करके रखो, और एक Book में आप अपने Thoughts भी लिख सकते है और Successful लोगों की Biographies भी पढ़ सकते है। और साथ में Inspirational Stories, Personality Development ऐसे बहुत सारे Articles होते है जिन्हे आप पढ़ सकते है जिनसे आप अपने आपको ओर भी Improve कर सकते है साथ में Day by day आप अपने आपको Inspire कर सकते है, किसी भी काम को करने के लिए। 

 नया सीखने का जज्बा 

अपने आपको हमेशा कुछ नया सीखने के लिए तैयार रखें, वैसे कुछ नया सिखने के लिए बहुत ज्यादा तैयारी करने की जरूरत नहीं होती कि..... ये भी करना है, वो भी करना। बस आपके अंदर सिखने का जज्बा होना चाहिए। और आपके अंदर वो एनर्जी होनी चाहिए, वो स्वभाव होना चाहिए कि में ये कर लुंगा, कि मुझे कुछ नया सीखना है, मुझे कुछ नया जानना है, 

अगर मैं कोई काम कर रहा हूँ तो उसे पूरी शिद्दत से करूँगा। अच्छे से जानूंगा और उसमें अपना 100% देने का प्रयास करूंगा। और हाँ ये भी जरूरी है कि आपको अगर जिंदगी में कुछ सीखते रहना है तो आपको अपनी Ego को बाहर निकाल देना होगा। आपको ये नहीं लगना चाहिए कि मझे सबकुछ आता है या फिर मैं सब कुछ जानता हूँ, आपको हर बार ये समझना है कि मैं जो भी समझ रहा हूँ या फिर जो भी देखता हूँ वो मेरे लिए सबकुछ नया है। 

⇨ खुलकर ज़िन्दगी जिएं     

ज़िन्दगी को ये सोचकर जियो के तुम ही तुम हो, और तुम हर गम से उपर हो।  अगर गम आए तो भी उसे बुलंद हौसलों के साथ जीना सीखो, बोलो तो खुशी के लिए बोलो, ऐसा करो कि मरता हुआ इंसान भी आपके वचनों को सुनकर प्राण फूक दें, सोते हुए को उठा दे, रोते हुए को हंसा दें, लंगड़े को भगा दे, और अंधे को दिखा, दुबले को फुला दे...... और दुखी को सुखी कर दे। तब देखना ज़िन्दगी एक वरदान सा बन जाएगी। और आपकी ज़िन्दगी सबसे आसान और नायाब बन जाएगी। 

Conclusion :-  

अगर यहां तक आपने इस Article को पढ़ ही लिया है तो एक बात हमेशा याद रखना कि ये जो 10 Rules हमने बताए है इनमें से आपको जो भी अच्छा लगे, उसको अपने जीवन में जरुर अपनाएं, अगर ऐसा लगे कि कोई भी अपनाने लायक नहीं है, तो एक बात तो जरूर याद रखना कि अपनी ज़िन्दगी सबसे अलग जीना।

"एक ऐसी जिंदगी बनाना अगर तुमसे आकर कोई भी मिले तो तुम्हे वो भूलना नहीं चाहिए, और तुम्हारे चेहरे पर एक प्यारी सी मुस्कान रहनी चाहिए। चाहे जैसी भी परिस्थितियां हों, चाहे जैसी भी ज़िन्दगी चल रही हो, बस खुश रहें। और अपनी ज़िन्दगी में एक Goal जरूर रखें, आगे बढ़ने का, सफल होने का और खुश रहने का

इसी के साथ हम अपनी कलम को विश्राम देते है। अत: अगर आपको ये Article Achhi Zindagi Jeene ke 10 Behtreen Rules in Hindi " अच्छा लगे, तो अपने अमूल्य विचार Comment box में शेयर करना ना भूलें। हम मिलेंगें आपसे फिर किसी Article में तब तक के लिए खुश रहें और स्वस्थ रहें। 
धन्यवाद। 

Post a Comment

2 Comments

  1. bahut hi achhi post read kar ke lekh dil baag baag ho gya

    thanks for share lekh

    ReplyDelete

All Rights Reserved - Hashwh.com - 2018