आयरन के Source, फायदे और Supplements | Iron Source, Benefits and Supplements.

आयरन के Source, फायदे और Supplements.

 Iron Source, Benefits and Supplements. 
आयरन (iron) हमारे शरीर के लिए महत्वपूर्ण खनिज (Mineral) है। यह शरीर के विकास के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। आयरन से हीमोग्लोबिन बनता है और यह लाल रक्त कोशिकाओं (Cells) के कार्य को आसान बनाता है, जो फेफड़ों से पूरे शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करता है। आयरन से मायोग्लोबिन (Myoglobin) बनता है जिसका काम शरीर की मांसपेशियों तक ऑक्सीजन पहुंचाना है। यह शरीर के अन्य हार्मोन एवं उत्तक (Tissues) को भी बनाने का काम करता है।

आयरन (लोहा) शाकाहारी एवम मांसाहारी, दोनों खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। प्रायः चिकित्सक शरीर से जुड़ी कई परेशानियों के लिए लोगों को Iron के सेवन की सलाह देते हैं। आइए जानते हैं कि आयरन हमारे शरीर के लिए कितना महत्वपूर्ण है।

आयरन गर्भावधि के समय शिशु एवं छोटे बच्चों के विकास, तथा गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए भी अत्यंत आवश्यक होता है। यह हमारे शरीर को न सिर्फ बेहतर बनाता है बल्कि बहुत से रोगों से बचाने का भी काम करता है। इससे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बनी रहती है। जब शरीर में निर्धारित मात्रा में आयरन (लोहा) मौजूद रहता है तो शरीर एनर्जेटिक बना रहता है।

शरीर अच्छे तरीके से काम करे इसके लिए आयरन की जरूरत होती है। आयरन की पर्याप्त मात्रा होना अत्यंत आवश्यक है। यह Amino acid, Collagen, Hormones एवं Neurotransmitter को भी बनाने का काम करता है। आयरन का अवशोषण पेट एवं Digestive System में होता है।

हमारे शरीर को आयरन दो तरीके (Heme and non heme) से मिलता है। नॉन-हेम आयरन पौधों एवं अन्य खाद्य पदार्थों में मिलता है, जबकि मांस, मछलियां और पोल्ट्री आदि फूड्स में हेम एवं नॉन-हेम आयरन के दोनों प्रकार मौजूद होते है। हमारा शरीर उतना ही आयरन का अवशोषण करता है जितनी उसको जरूरत होती है। इससे अधिक आयरन का सेवन करने पर शरीर आयरन का अवशोषण करना कम कर देता है।

आयरन से शरीर में पर्याप्त मात्रा में Hemoglobin बना रहता है, शरीर को ताकत मिलती है। हमारा शरीर स्वस्थ रहता है। वहीं आयरन की कमी से सांस फूलना, थोड़ा-सा काम करते ही शरीर में  थक जाना, नाखूनों का खराब होना और हार्ट अटैक आदि बीमारियां हो सकती हैं।

* प्रसव और मासिक धर्म चक्र वाली महिलाओं को हो सकती है आयरन की कमी

अधिकतर गर्भवती महिलाएं पर्याप्त मात्रा में आयरन का सेवन नहीं कर पाती हैं, जिसके कारण उनको आयरन की कमी हो सकती है। एक स्टडी में यह भी कहा गया है कि मासिक धर्म के दौरान (menstrual cycle) महिलाओं को अधिक आयरन का सेवन करना चाहिए।

शरीर को सही ढंग से काम करने के लिए कितनी मात्रा में आयरन की जरूरत होती है, यह व्यक्ति की उम्र, लिंग और उसके भोजन पर निर्भर करता है। राष्ट्रीय पोषण संस्थान (National institute of nutrition) के अनुसार शाकाहारी एवं मांसाहारी लोगों के लिए आयरन की अलग-अलग मात्रा निर्धारित है। एक्सपर्ट्स भी लोगों की जरूरत के अनुसार उन्हें आयरन की अलग-अलग मात्रा के सेवन की सलाह देते हैं।

  • जन्म से 6 महीने तक- 0.27 mg
  • 7 से 12 महीने तक- 11 mg
  • 1 से 3 साल तक-7 mg
  • 4 से 8 साल तक- 10 mg
  • 9 से 13 वर्ष तक- 8 mg
  • 14 से 18 साल के युवक एवं युवतियों के लिए- 11 mg और 15 mg
  • 19 से 50 वर्ष के पुरुष एवं महिलाओं के लिए- 8 mg और 18 mg
  • 51 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए- 8 mg
  • गर्भवती महिलाएं के लिए- 27 mg।

इसी तरह वे पुरुष या महिला, जो बहुत अधिक मेहनत या थोड़ी मेहनत या फिर मेहनत का काम बिल्कुल नहीं करते हैं, National institute of nutrition द्वारा उनके लिए भी आयरन की खुराक तय की गई है।

  • भारी, मध्यम एवं हल्का काम करने वाले पुरुषों के लिए- रोजाना 17 mg
  • भारी, मध्यम एवं हल्का काम करने वाली महिलाओं के लिए- 21 mg
  • गर्भवती एवं स्तनपान कराने वाली महिलाओं में आयरन की जरूरत:
  • गर्भवती महिलाएं- 35 mg
  • स्तनपान कराने वाली महिलाएं- बच्चे के जन्म से एक साल तक 21 mg [3]।

हेम आयरन मतलब लाल एवं बिना चर्बी वाले मांस, मछलियां, अंडे एवं पोल्ट्री उत्पाद आदि में प्रचुर मात्रा में आयरन होता है। नॉन-हेम आयरन जैसे- बादाम, सेम, सब्जियां और अनाज में भी प्रचुर मात्रा में आयरन होता है।

* मां के दूध में होता है प्रचुर आयरन (Abundant iron)

अध्ययन के अनुसार मां के दूध में भी प्रचुर मात्रा में आयरन होता है। अगर शिशु की उम्र 4 से 6 महीने के बीच हो तो ऐसे शिशुओं को मां के दूध से पर्याप्त आयरन नहीं मिलता है इसलिए इन माताओं को आयरन का सेवन करना चाहिए।

आयरन से भरपूर खाद्य पदार्थ / Foods.

यह कई खाद्य पदार्थों में पाया जाता है जो बाजार में आसानी से मिल जाता है, जिनमें शामिल हैं-
इन मांसाहारी खाद्य पदार्थों में बहुत अधिक आयरन होता है।

  • गौमांस, लाल मांस, मुर्गे-मुर्गियां, मछली, केंकड़ा-झींगा, घोंघा, अंडे, स्पलीन (बकरी, भेड़) आदि
  • मांसाहारी खाद्य पदार्थों में आयरन की निम्न मात्रा होती है।
  • घोंघा (100 gram)- 28 mg आयरन
  • गौमांस, लीवर एवं अन्य मांस (100 gram) – 36 mg आयरन
  • मांस (100 gram)- 2.7 mg आयरन
  • पोल्ट्री- 1.1 mg आयरन

शाकाहारी (herbivorous) भोजन में आयरन की मात्रा के बारे में जानना चाहते हैं तो निम्न फलों में पर्याप्त मात्रा में पर्याप्त मात्रा में आयरन होता है। फल जैसे-तरबूज, सेब, अंगूर, अनार, बादाम, बादाम, किशमिश सूखा मेवा, खजूर में बहुत अधिक आयरन होता है। इनके सेवन से शरीर में आयरन की कमी नहीं होती है।

इसी तरह हरी पत्तेदार सब्जियां, मसूर की दाल, शलजम, चुकंदर, चना, राजमा, शकरकंद, सरसों का साग, मेथी, आटा, हरी बीन्स, मटर, पालक, ब्रोकली में बहुत अधिक मात्रा में आयरन होता है जो शरीर में Hemoglobin बनाने का काम करता है।

शाकाहारी खाद्य पदार्थों के रूप में अगर आप निम्न खाद्य पदार्थों को 100 G. की मात्रा में खाते हैं तो आपको आयरन की निम्न मात्रा मिलती है।

  • हल्दी पाउडर – 46.0 mg आयरन
  • जीरा बीज – 20.5 mg आयरन
  • सफेद तिल – 15.0 mg आयरन
  • अमरैंथ बीज – 9.3 mg आयरन
  • इमल, लुगदी – 9.1 mg आयरन
  • मिंट पत्तियां -8.5 mg आयरन
  • पितवा, हरा (हिबिस्कस कैनबिनस) 7.6 mg आयरन
  • क्विनोआ – 7.5 mg आयरन
  • हर प्रकार का चना या चने की दाल- 6.7 mg आयरन
  • बाजरा – 6.4 mg आयरन
  • अमरैंथ पत्तियां, लाल और हरा- 5.2 mg आयरन [1]

जब शरीर में Iron की बहुत अधिक कमी हो जाती है और तब इसे प्राकृतिक तरीके के सेवन से इसे पूरा नहीं किया जा सकता है, तो एक्सपर्ट्स प्रायः मरीज को सप्लीमेंट (Supplements) के सेवन की सलाह देते हैं। इससे शरीर को पर्याप्त मात्रा में आयरन मिलता है और हम स्वस्थ रहते हैं।


शरीर में आयरन की बहुत अधिक कमी हो जाने की स्थिति में आप निम्न सप्लीमेंट्स का सेवन कर सकते हैं। जिनमें शामिल हैं- ferrous sulfate, Ferrous gluconate, ferric citrate, या Ferric sulphate से संबंधित खाद्य पदार्थ से आयरन की पूर्ति की जा सकती है।

* बच्चों के लिए कितने हानिकारक होते हैं आयरन के Supplements. 

वैसे Supplements जिनमें आयरन होते हैं उनको बच्चों से दूर रखने की सलाह दी जाती है। दरअसल 6 साल से छोटे बच्चे अगर गलती से आयरन के Supplements ले लें तो वह उनके लिए नुकसादायक हो सकता है। इसलिए एक्सपर्ट्स इन Supplements को बच्चों से दूर रखने की सलाह देते हैं। आयरन के Supplements में यह चेतावनी लिखी होती है।

* Conclusion

दोस्तों अब तो आपको आयरन के फायदे पता चल ही चुके हैं कि आपको कैसे आयरन सेवन करना चाहिए है। उम्मीद करते है आपको ये Article (आयरन के Source, फायदे और Supplements | Iron Source, Benefits and Supplements.) अच्छा लगा होगा। अपने विचार Comment Box में अवश्य बताएं। और यह जानकारी अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें।
धन्यवाद।   

Post a Comment

0 Comments

All Rights Reserved - Hashwh.com - 2018