ज़िन्दगी में सफल होना है तो ये चीजें छोड़ दीजिए - Zindagi mein Success hona hai to ye kaam Chhod dein.

दुनिया का कोई भी इंसान सफलता चाहता है, हर इंसान सफल बनना चाहता है, हर इंसान पैसे कमाना चाहता है, हर इंसान अपना नाम बनाना चाहता है लेकिन आपको पता है सिर्फ 5 परसेंट लोग या फिर 10 परसेंट लोग पूरी दुनिया में सफल इंसान होंगे या फिर हर काम में सफल होने वाले कितने.....लोग होंगे  ? आज हम इस नायाब Article " Zindagi mein Success hona hai to ye kaam Chhod dein" में इसी विषय पर बात करने वाले है।
Zindagi mein Success hona hai to ye kaam Chhod dein
आपको पता है कि वो लोग क्यों सफल है या फिर वो लोग इतने ऊँचे स्तर पर कैसे पहुंचे .... ?  क्योकि वो हमारे जैसे बहाने नहीं बनाते थे। याद है जब हम छोटे थे तो बात-बात पर बहाने बनाते थे, स्कूल में मार से बचने के लिए भी बहाने बनाते थे, मम्मी की डांट से बचने के लिए बहाने थे, खुद को बचाने के लिए बहाने थे। न जाने .... हमने कितनी चीजों से बचने के लिए या फिर उनसे दूर भागने के लिए बहाने बनाए होंगे...!


लेकिन आपको पता है, अगर आपने भी बहाने बनाए थे बचपन में, तो वोही आदत आज भी आपके अंदर है और आप हर बात में बहाना बनाना सीख चुके है। खुद को बचाने के लिए बहाने बनाते है आप, हर एक चीज से बचने के लिए या हर एक चीज से दूर भागने के लिए आप बहाने बनाते है।

स्कूल के वो दिन याद कीजिए जब स्कूल से आप घर आते थे पूरी शाम अपने दोस्तों के साथ मस्ती करते थे, घूमते थे, और फिर अगले दिन जब स्कूल में आकर आपको पूछा जाता था कि आपने होमवर्क किया.....?  तो आपका क्या जवाब होता था। मोस्टली कॉमन जवाब यही होता था कि मैं अपनी कॉपी भूल चूका हूँ या फिर ये प्रॉब्लम था वो प्रॉब्लम था, हमारे घर की Light खराब थी वगैरह वगैरह। काफी सारे ऐसे हम बहाने बना लेते थे।

स्कूल में जब मार्क्स कम आए...... तो हमारा जवाब..... टीचर पढ़ाते ही नहीं थे। फिर मेरी बुक खो गई थी ऐसे ही बहुत सारे बहाने होते है। जब हम बड़े हो जाते है तो ये सारे बहाने बनाने की आदत हमारा पीछा नहीं छोड़ती। हम कभी-कभी अपनी गलती मानते ही नहीं। हर जगह पर हम यही सोचते है कि हम बिलकुल सही है बाकी सब गलत। और अपनी गलती छुपाने के लिए दूसरी चीज या फिर दूसरे लोगों पर Blame करते है। और खुद बहाना बनाकर उस चीज से बच जाते है, और उस चीज से बचने की कोशिश करते है या फिर उस Situation से बचने की कोशिश करते है।    

Office के लिए अगर लेट हुए, तो ट्रैफिक का बहाना....हम बोलते है कि मेरी कोई गलती नहीं थी..... ट्रैफिक था इसीलिए लेट हो गया। बिज़नेस में अगर असफल हुए, तो किस्मत का बहाना.....मेरी कोई गलती नहीं थी ये साली किस्मत ही खराब है। Competition में अगर फ़ैल हुए, तो मेरी कोई गलती नहीं थी यार, मेरे उस समय हालात कुछ अच्छे नहीं थे.....ये बहाना। अच्छी नौकरी नहीं मिली तो फिर से बहाना.......यार माँ-बाप ने ज्यादा पढ़ाया नहीं.....मेरी कोई गलती नहीं थी.....माँ-बाप ने ज्यादा पढ़ाया होता, तो आज अच्छी नौकरी होती।

कभी किसी से लड़ाई हुई, तो मैंने तो कुछ किया नहीं.....मेरी तो कोई गलती नहीं थी....मैंने कुछ किया ही नहीं, वोही सामने से लड़ रहा था ...फिर से बहाना। बहाने बनाते-बनाते हम ऐसे हो गए है कि हमें अपनी गलती दिखती ही नहीं, हम सारा दोष सिर्फ दूसरों पर डाल देते है और अपना पला झाड़ देते है कि मेरी कोई गलती ही नहीं थी।

सच कहें तो जो भी आप अपने जीवन में प्रेरणादायक किताबें पढ़ते है या फिर मोटिवेशनल Videos देखते है वहां से आप सीखते है कि कैसे सफल हुआ जाए, लेकिन आप वहां पर अगर पूछते है कि कैसे सफल होना है, तो सबसे पहले एक बात याद रखें......कि आपको बहाने बनाने छोड़ने होंगे। हाँ......आपको मोटिवेशनल Videos या फिर Inspirational Speech या फिर कुछ प्रेरणादायक Books पढ़कर......कुछ न कुछ Power मिल जाएगी......लेकिन आप फिर से बहाने बनाएंगें......यार Time ही नहीं मिलता या फिर कहेंगें कि मेरे पास घर में ऐसी चीजें ही नहीं है......क्यों नहीं है ? आप भी अपनी Problem से लड़ सकते है......हर एक इंसान छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी चीज बना सकता है......तो आप क्यों नहीं बना सकते......?????

हर एक इंसान सफल बनने की कोशिश करता है लेकिन जो लोग बहाने बनाते है वो कैसे सफल हो पाएगें। अगर आप हर एक चीज में बहाने बनाते रहेंगें......तो Success कैसे मिलेगी ? चाहे आप कितनी भी प्रेरणादायक किताबें पढ लो, कितनी भी Motivational Books पढ़ लो......आप जब तक बहाने बनाना नहीं छोड़ेंगें......तब तक इन सभी चीजों को कोई Effect नहीं पड़ेगा।

और दूसरी बात जो भी गलती हुई......उसमें खुद की भी गलती हो सकती है ये भी स्वीकार कीजिए। अपनी कमियां......अपनी गलती ये सारी चीजें ढूंढने की कोशिश कीजिए। वो कहते है ना......एक हाथ से ताली नहीं बजती.....दोनों हाथों की जरूरत होती है। जिस जगह पर आप दूसरी चीजों को Blame करते है......दूसरे लोगों को Blame करते है......उसी जगह पर आपकी भी गलती उतनी ही होती है। तो इसलिए अपनी गलतियों को Accept करना सीखिए......और उनको सुधारने की भी कोशिश कीजिए। अगर आपको आपके अंदर जितनी भी कमियां है उनको दूर करना है, तो सबसे पहले अपनी गलती को स्वीकार करना सीखिए......तभी आप खुद में सुधार कर पाएंगें......This is last time कि जब तक आप अपनी गलती को मानेंगें नहीं......जबी तक आप अपनी गलती को Accept नहीं करेंगें ......तब तक कुछ भी चीजें बदलने वाली है ही नहीं।

आप कल भी फ़ैल हुए थे......आज भी फ़ैल हो रहे है और आगे जाकर भी फ़ैल होंगे......इसका मतलब यही है कि आपको आपकी गलती मानकर उसको सुधारना ही होगा और ये जो भी बहाने आप बनाते है छोटी-छोटी चीजों में Blame करते है वो सारी चीजें आपको छोड़नी होगी। किस्मत......हालात और दूसरों को Blame करना......ये सबसे बड़े बेवकूफों की निशानी है।




🙏 At Last :

अगर आप समझदार है, तो आज से ही दूसरों को Blame करना या फिर किसी Situation पर दोष डालना कि......ये नहीं हुआ......वो नहीं हुआ या फिर ये उस इंसान की वजह से हुआ......ये सब छोड़ दीजिए......और आखिर में हम एक ही बात कहना चाहेंगे कि :-

" नजर को बदलो...तो नजारे बदल जाते है, सोच को बदलो...तो सितारे बदल जाते है 
नजर को बदलो...तो नजारे बदल जाते है, सोच को बदलो...तो सितारे बदल जाते है 
कश्तियाँ बदलने की जरूरत ही नहीं...दिशा को बदल दो...किनारे खुद-ब-खुद बदल जाएंगें। "

So उम्मीद करते है कि ये Article ⇨ Zindagi mein Success hona hai to ye kaam Chhod dein" आपको अच्छा 💕 लगा होगा......अपने विचार ✉✉ Comment Box में अवश्य शेयर करें। हम मिलेगें आपसे Futures Articles में......तब तक के लिए......यूँ ही हंसते रहें और मुस्कुराते रहें।
धन्यवाद।                     

Post a Comment

0 Comments

All Rights Reserved - Hashwh.com - 2018