अब बवासीर से पाएं कुछ ही दिनों में छुटकारा | Piles treatment in hindi.

Bawaseer या piles ek aisi खतरनाक बीमारी है। Jisse pareshan व्यक्ति naa to achhe se kuch khaa skta hai aur naa hi achhe se कहीं बैठ सकता है। Ye situation व्यक्ति ke liye bahut hi परेशानी भरी hoti hai. So Aaj hum is Article mein yahi जानेगें कि What is Piles in hindi, About piles in hindi, Piles in hindi treatment या Medicines for piles in hindi.  

दरअसल Bawaseer या Piles 2 प्रकार ki hoti hai. Normal Language mein isko खूनी या बादी बवासीर कहते है। Khooni Bawaseer mein kisi parkar ki takleef nhi hoti keval khoon aataa hai.
Piles treatment in hindi

Table of Content 👇
  1. Bawaseer (Piles) mein kya khayein - Piles treatment in Hindi
  2. Bawaseer "Piles" ke Top 13 Ayurvedic upchar - Piles treatment in Hindi
  3. Fiber युक्त - Piles Treatment in Hindi with high fiber diet.
  4. गुलाब की पंखुड़ियां - Piles Treatment in Hindi with Rose.
  5. लस्सी (छाछ) - Piles Treatment In Hindi.
  6. त्रिफला - Piles treatment in Hindi.
  7. इसबगोल - Piles treatment in Hindi with isbgol.
  8. काले तिल - Piles treatment in Hindi with black Til.
  9. अंजीर - Piles treatment in Hindi with fig.
  10. बड़ी इलायची - Piles treatment in Hindi with Cardamom.
  11. आंवला - Piles treatment in Hindi with gooseberry.
  12. नीम - Piles treatment in Hindi with Neem.
  13. हरड़ -  - Piles treatment in Hindi with Harad.
  14. जीरा - Piles treatment in Hindi with cumin.
  15. Piles होने के कारण (Piles या Bawaseer hone ke karan) 
  16. मुझे बवासीर का इलाज कब करवाना चाहिए (Piles Treatment in Hindi) ?
  17. कैसे होता है bawaseer का इलाज (Piles treatment in hindi)
  18. सर्जरी के द्वारा - Piles treatment in hindi with surgery
  19. बिना सर्जरी द्वारा Piles treatment in hindi without surgery.
  20. Conclusion 

वहीं दूसरी ओर बादी Bawaseer mein pet kharab rahta hai. kabaz bna rahta hai Gas banti hai. बवासीर की वजह से पेट brabar खराब रहता है न कि अपने की Pet gadbadi की वजह से Bawaseer होती है। हम Aapko iske upchar के लिए बेहतरीन ऐसे gharelu nuskhe बता रहे हैं जो आजमाएं हुए हैं और बेहद safal है।

1. जीरे का लेप अर्श पर karne se 2 से 5 gram जीरा उतने ही घी शक्कर के saath khane se एवं गर्म आहार का सेवन band karne se khooni bawaseer में fayda hota है।

2.  बड़ के दूध ke seven se रक्त प्रदर व khooni bawaseer का रक्त स्त्राव band ho jata है Aur bawaseer mein fayda milta hai.


3. Anaar के छिलके का चूर्ण नागकेसर ke saath milakar dene se अर्श का रक्त स्त्राव band ho jata है। 

4. दो सूखे Anjeer shaam ko paani mein भिगो दें। सवेरे के भिगोय 2 Anjeer को शाम 4:00 बजे 5:00 baje khayein. Khane ke ek ghante pahle aur ghante baadmein kuch na lein. Iske 8 दिन ke के सेवन से बादी और Khooni हर प्रकार की bawaseer thik ho jaati hai.


5. Bawaseer को जड़ से door karne ke liye और dobara में Naa होने के लिए Lassi sabse best Hai. Dopahar के भोजन के बाद Lassi में डेढ़ ग्राम pisi hui अजवाइन और 1 gram सेंधा नमक Milakar pine se bawaseer mein fayda hota hai, और नष्ट हुए Bawaseer के मस्से dobara उत्पन्न नहीं होते 


👉 Bawaseer (Piles) mein kya khayein ?

  • करेले का रस 
  • Lassi 
  • पानी 
  • दलिया 
  • Dahi चावल 
  • मूंग दाल की खिचड़ी 
  • Desi ghee
  • खाना खाने के बाद Guava khana bhi faydemand hai.
  • फलों में केला, कच्चा नारियल, आंवला, अंजीर, अनार, Papaya खाएं 
  • सब्जियों में पालक गाजर चुकंदर टमाटर तुरई जिमिकंद मूली खाएं


👉 Bawaseer "Piles" ke Top 13 Ayurvedic upchar.

1. Bawaseer ka  Ayuvedic upchar 👉 Bawaseer yaa piles bahut ही painful रोग है iska dard असहनीय होता है bawaseer मलाशय "Rectum" के aaspaas की नसों की सूजन के कारण विकसित होता है

Jaisa ki hum aapko pahle bhi btaa chuke hai bawaseer दो तरह की होती है। अंदरूनी और बाहरी अंदरूनी bawaseer में नसों की सूजन dikhti nhi par mahsoos hoti hai. Jabki बाहरी Bawaseer mein yah sujan गुदा ke bilkul बाहर dikhti hai. 



bawaseer को पहचानना bahut hi aasaan है मल त्याग के samay मलाशय में jyada dard और iske baad khoon aana ya khujli hona iske lakshan है 

इसके कारण गुदे में सूजन ho jaati है Ayuvedic remedies ko apnakar bawaseer se chutkara paya jaa skta है। 

2. Fiber युक्त - Piles Treatment in Hindi with high fiber diet.

👉 diet अच्छे पाचन क्रिया के लिए बहुत जरूरी होता है इसलिए अपनी diet में रेशयुक्त डाइट Jaise:- साबुत अनाज, Fresh Fruits और vegetables को Add करें, साथ ही फलों के रस की जगह फल jyada quantity mein खाएं। 

3. गुलाब की पंखुड़ियां - Piles Treatment in Hindi with Rose.

Piles treatment in hindi
👉 Bawaseer mein khoon ki problem ko door karne ke liye yah bahut hi achha Ayuvedic Upchar है। इसके लिए थोड़ी सी गुलाब की पंखुड़ी को 50 ml. पानी में कुचल कर 3 दिन खाली पेट लेना चाहिए। लेकिन ध्यान रहे इस upchar ke saath केले का सेवन बिलकुल नहीं। 



4. लस्सी (छाछ) - Piles Treatment In Hindi.

Piles treatment in hindi

👉 Jaise ki hum aapko पहले भी बता चुके हैं कि bawaseer में Lassi Behad महत्वपूर्ण है इसके लिए kareeb 2 liter lassi lekar उसमें 50 gram पिसा हुआ जीरा और स्वादानुसार नमक मिला दें।  

प्यास लगने पर Paani के स्थान पर इसे पिएं 4 din tak aesa करने से मस्से ठीक हो जाएंगे। इसके अलावा हर Roj दही खाने से Bawaseer होने की संभावना kaafi हद तक kam ho jaati है और bawaseer से निजात bhi मिलती है। 

5. त्रिफला - Piles treatment in Hindi.

Piles treatment in hindi
👉 आयुर्वेद की महान देन त्रिफला से हम सभी परिचित हैं इसके चूर्ण का नियमित रूप से रात को सोने से पहले एक से दो चम्मच सेवन से kabaz ki samasya ko door karne mein kaafi had tak help milti है जिससे bawaseer ya piles mein aapko kaafi राहत मिलेगी। 

6. इसबगोल - Piles treatment in Hindi with isbgol.

👉 इसबगोल की भूसी गलत खान-पान से उपजी problems ko door karne ki एक ऐसी अचूक Natural और चमत्कारिक Remedy है। 




इसबगोल भूसी का प्रयोग करने से अनियमित और कड़े मल से Rahat milti है इससे कुछ हद तक Pet bhi saaf rahta है और मस्सा jyada pain bhi nhi karta रात को सोने से पहले एक या दो चम्मच iski भूसी ko दूध या पानी के साथ लिया जा सकता है। 



7. काले तिल - Piles treatment in Hindi with black Til.

👉 खूनी बवासीर में khoon को रोकने के लिए 10 se 12 ग्राम धुले हुए काले तिल को लगभग 1 gram fresh butter के साथ लेना चाहिए। इसे लेने से bawaseer mein khoon aana band ho jaata है। 



8.अंजीर - Piles treatment in Hindi with fig.

Piles treatment in hindi
👉 सूखा अंजीर bawaseer ke ilaj ke liye एक और अद्भुत Ayuvedic upchar है एक या दो सूखे अंजीरों को लेकर रात भर के लिए Garam paani में भिगो दें और Subah khali pet इसको खाने से काफी हद तक आपको Bawaseer mein fayde milega. 

9. बड़ी इलायची - Piles treatment in Hindi with Cardamom.

Piles treatment in hindi
👉 लगभग 50 gram बड़ी इलायची को तवे पर रखकर भूनते हुए जला लीजिए। ठंडी होने के बाद इस इलायची का चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को नियमित रूप से सुबह पानी के साथ खाली पेट लेने से Piles ki problem se आपको काफी हद तक निजात मिलेगी।

10. आंवला - Piles treatment in Hindi with gooseberry.

Piles treatment in hindi
👉 आंवले को Ayurved mein बहुत महत्ता प्रदान की गई है जिससे इसे रसायन माना जाता है यह बॉडी में आरोग्य शक्ति को बढ़ाता है। आंवला pet ke liye bahut faydemand है शरीर में Bawaseer की problem से आपको निजात पाने में काफी हद तक सहायता करेगा। 

11. नीम - Piles treatment in Hindi with Neem.

👉 नीम के छिलके सहित निबौरी के Powder को रेगुलर 10 gram रोज सुबह रात में रखे पानी के साथ सेवन कीजिए। इससे Bawaseer mein fayda hoga. इसके अलावा नीम का तेल लगाने और इस तेल की चार पांच बूंदें रोज पीने से Bawaseer "piles" se निजात मिलेगी आपको।

Read Also👇👇


12. हरड़ -  - Piles treatment in Hindi with Harad.

👉 हरड़ के रूप में लोकप्रिय हरितकी कब्ज को दूर करने का एक Bahut achha और Gharelu upay है हरितकी आधा से एक चमच रात को गुनगुने पानी से लेने से या गुड़ के साथ खाने से Bawaseer की समस्या से आपको निजात मिल सकती है। 

13. जीरा - Piles treatment in Hindi with cumin.

Piles treatment in hindi
👉 छोटा सा जीरा Pet ki problems को दूर करने के लिए kaafi faydemand है जीरे को भूनकर मिश्री के साथ मिला कर चूसने से फायदा मिलता है 

iske alawa आधा चम्मच जीरा Powder को एक गिलास पानी में डालकर पिएं इसके साथ जीरे को पीसकर मस्सों पर लगाने से भी फायदा मिलता है।

👉 Piles होने के कारण (Piles या Bawaseer hone ke karan) 

  • पुरानी kabaz 
  • लगातार दस्त 
  • Excretion में जोर लगना 
  • Pregnancy 
  • Motapa आदि bawaseer के कुछ नार्मल से कारण है। 
  • इसके अतिरिक्त गलत खान-पान की आदतें, Heavy force exercises, लंबे समय तक एक जगह पर बैठे रहना या लगातार ट्रेवल करना और तरल पदाथों का कम सेवन करना भी Piles की समस्या का कारण हो सकता है। 
  

👉 मुझे बवासीर का इलाज कब करवाना चाहिए (Piles Treatment in Hindi) ?

Treatment से पहले ठीक डायग्नोसिस करवाने की अहमियत बहुत है डॉक्टर बताते है कि अगर आपको अपने अंदर ऐसे संकेत देखने को मिल रहे है तो Test यानी जांच करवाना काफी जरूरी हो जाता है जैसे कि :-
  • यदि गुदा से खून आना शुरु हो गया है तो। 
  • अगर आपको लंबे समय तक गुदा में दर्द और असुविधा महसूस होती है तो आपको जांच करवानी चाहिए।
  • अगर आपको लगता है कि मेरे गुदे से मांस निकला है तो भी आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए। 
  • अगर मेडिसिन्स, मरहम और अन्य उपचारों के प्रयोग से भी Bawaseer का इलाज नहीं (Piles Treatment in Hindi ) हो पा रहा हो तो भी आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए।  
Bawaseer के इलाज में ज्यादा देरी ना करें ज्यादा खून बहने से आपकी बॉडी में खून की कमी हो सकती है जिसकी वजह से थकान महसूस होने लगती है और चक्कर आने लगते हैं।

Read Also👇👇 


Emergency situation में आपको Hospital में एडमिट होकर खून चढ़ाने की जरूरत पड़ सकती है। इसलिए हमेशा Bawaseer के प्रति सचेत रहें।



👉 कैसे होता है bawaseer का इलाज (Piles treatment in hindi)

मैंने डॉक्टर से पूछा डॉक्टर साहब बवासीर का इलाज़ (Piles treatment in hindi) कैसे होता है। तो डॉक्टर साहब ने मुझे 2 तरीके बताए तो इस प्रकार है :-

  1. सर्जरी के द्वारा बवासीर का इलाज़ "Piles treatment in hindi with surgery"
  2. बिना सर्जरी करवाए बवासीर का इलाज़ "Piles treatment in hindi without surgery"

1. सर्जरी के द्वारा - Piles treatment in hindi with surgery

👉 Right Time पर आपको doctor से मिलना होगा तभी आपको सही उपचार के बारे में जानकारी मिलेगी। अगर आपके बवासीर यानी पाइल्स की स्थिति ज्यादा बढ़ गई है तो कभी-कभार सर्जरी करवाने की आवश्यकता पड़ सकती है।

सर्जरी के मामले में अगर आपको Operation से डर लग रहा है तो डरिए मत क्योंकि सर्जरी का कार्य एक दिन का ही होता है और उससे अगले दिन अपनी रेगुलर लाइफ की तरह काम कर सकते है So सर्जरी को लेकर चिंतित ना हों।

Piles के इलाज़ में अनेकों सर्जन पारंपरिक सर्जरी करने पर अधिक बल देते है। लेकिन ऐसी सर्जरी के कारण 

2. बिना सर्जरी द्वारा Piles treatment in hindi without surgery.

👉 यदि आपको गंभीर स्थिति आने से पहले ही बवासीर का पता चल जाता है और आप सचेत हो जाते है तो काफी हद तक संभावना बढ़ जाती है कि आपका इलाज़ दवाओं या injections से किया जा सकता है। 

इसके अलावा यदि आपका बवासीर खतरे से बाहर है तो डॉक्टर आपको मरहम या Creams के लिए भी suggest कर सकते है इनसे आपको काफी हद तक आराम मिलेगा।

Read also👇👇



Bawaseer ke Upchar का सबसे पहला कदम है आपको Kabaz से बचना चाहिए। इसके लिए Fiber युक्त खाद्य पदार्थ जैसे कि हम आपको पहले भी बता चुके हैं हरी सब्जियां, साबुत अनाज और फलों का ज्यादा से ज्यादा मात्रा में सेवन करना चाहिए।

👉 Conclusion 

अब तो आप Piles यानी की Bawaseer के बारे में जान ही चुके होंगे। उम्मीद है आपको इस Article के माध्यम से काफी सहायता मिलेगी। और अगर आपको ये Article (Piles treatment in hindi) अच्छा लगा हो तो अपने मित्रों के साथ शेयर जरूर करें।


ताकि आपके माध्यम से किसी Person की हेल्प हो सके क्योंकि " 👉 👉 कर भला तो......हो भला " Sharing is Caring. 

Stay Health Stay Cool 👈 👈

Advertiser